Thursday, December 17, 2020

सचिन पायलट बनेंगे Rajasthan के मुख्यमंत्री! Congress ने लिया बड़ा फैसला और गहलोत को..


Rajasthan में बीते कुछ महीने पहले गह;लोत सरकार पर बड़ा सिया;सी सं’कट आया था। दरअसल उस दौ;रान राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उप मुख्य;मंत्री के पद पर रह चुके सचिन पायलट के बीच तनातनी की खबरें सामने आई थी। अब एक बार फिर राजस्थान से बड़ी खबर सामने आ रही है।









दरअसल राज्य में एक बार फिर से कांग्रेस के अंदर नेतृत्व परि;वर्तन को लेकर रस्साकशी तेज हो चुकी है। इसके साथ ही अशोक गहलोत और सचिन पाय;लट के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रही च;र्चाओं को भी हवा मिल रही है। दर;असल इस बार कांग्रेस आलाकमा;न ने ही अशोक गहलोत के खि;लाफ एक ऐसा दांव चल दिया है। जिसे ना तो वह स्वीकार कर पा रहे हैं और ना ही इसके लिए इं;कार कर पा रहे हैं।





दरअसल कां;ग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल के नि’धन के बाद दिल्ली में कें;द्रीय आलाकमान एक ऐसे शख्स की तलाश में है। जो कि अपने राज;नीतिक नज;रिए से पार्टी के लिए बड़े फैसले ले सके। कांग्रेस का मान;ना है कि अ;हमद पटेल के निधन के बाद उनका वक्त तक खाली नहीं रखा जा सकता।





दि;ल्ली में मौ;जूद जो वि;कल्प थे उनमें से कोई भी इस पद के लिए फिट नहीं बैठ गया है। इसी बीच अब रा;जस्थान के मुख्यमंत्री अशो;क गहलोत का नाम सामने आया है। बताया जा रहा है कि अहमद पटेल की पो;जीशन को भरने के लिए जो गुण चाहिए वह अशोक गहलोत में नजर आ रहे हैं।









इसके साथ ही वह अहम;द पटेल के विश्वा;सपात्र भी रहे हैं। इसी वजह से पार्टी आला;कमान अब उन्हें अहमद पटेल की जगह देख रही है। जिसके चलते अशोक गहलोत को राजस्थान छोड़कर दिल्ली भी जाना पड़ स;कता है। कांग्रेस कें;द्रीय नेतृत्व की तरफ से यह भी कहा जा रहा है कि गहलोत को राजस्थान से दिल्ली शि;फ्ट कर देना चाहिए। इसके साथ ही राजस्थान में एक बार फिर से सचिन पा;यलट को सरकार का फै;सला लिया जा सकता है।





दूसरी तरफ अशोक ग;हलोत किसी भी सूरत में राजस्था;न छोड़ना नहीं चाहते हैं। उनके सामने अभी अपने बेटे को भी राज्य की राजनीति में स्थापित करने की चुनौती है। अगर अहमद पटेल की भूमिका में दिल्ली शि;फ्ट होने के चलते अशोक गहलोत को राजस्थान छोड़ना पड़ता है तो वह किं;गमेकर भी बन सकते हैं।


0 comments:

Post a Comment