Saturday, December 12, 2020

कश्मीर की पहली मुस्लिम महिला पायलट बनीं इरम हबीब


Jammu - Kashmir की रहने वाली इरम हबीब राज्‍य की पहली मुस्लिम महिला Pilot बन गई हैं। 30 वर्षीय इरम अगले महीने Go Air join करेंगी। इरम से पहले कश्‍मीरी पंडित समुदाय से आने वाली तन्‍वी रैना वर्ष 2016 में घाटी की पहली महिला Pilot बनी थीं। उन्‍होंने Air India join किया था। पिछले साल अप्रैल महीने में 21 वर्षीय आएशा अजीज भारत की सबसे युवा स्‍टूडेंट Pilot बनी थीं।









परंपरावादी कश्‍मीरी समाज से आने वाली इरम का Pilot बनने का सफर आसान नहीं था। इरम के पिता कश्‍मीर के सरकारी अस्‍पतालों में सर्जिकल सामानों की आपूर्ति करते हैं। बचपन से ही इरम का सपना Pilot बनने का था और इसके लिए उन्‍होंने डॉक्‍टोरेट की डिग्री हासिल करने का इरादा त्‍याग दिया।





देहरादून से वानिकी में स्‍नातक की पढ़ाई करने के बाद उन्‍होंने शेर-ए-कश्‍मीर University से पोस्‍ट Greduation किया। इसके बाद इरम ने वर्ष 2016 में अमेरिका के एक फ्लाइट स्‍कूल से प्रशिक्षण हासिल किया। इरम इस समय दिल्‍ली में हैं और व्‍यवसायिक पायलट बनने के लिए क्‍लासेज ले रही हैं।









इरम ने बताया कि उन्‍होंने अमेरिका में करीब 260 घंटे विमान उड़ाने का अनुभव हासिल किया है। उन्‍हें अमेरिका और Canada में व्‍यावसायिक विमान उड़ाने का लाइसेंस मिल गया है। इरम ने कहा, 'सबको यह जानकर आश्‍चर्य हुआ कि मैं कश्‍मीरी मुस्लिम हूं और विमान उड़ा रही हूं लेकिन मैंने अपने लक्ष्‍य को पाने के लिए आगे बढ़ना जारी रखा।'





यह संयोग की बात है कि पिछले तीन साल में 50 और कश्‍मीरी महिलाएं कई घरेलू और International Airline में चालक दल में शामिल हुई हैं। उधर, तन्‍वी रैना का कहना है कि कश्‍मीरी लड़कियों ने पढ़ाई में लड़कों को पीछे छोड़ दिया है। मेरी दिली इच्‍छा है कि कश्‍मीरी लड़कियां Airline कंपनियों में भी अच्‍छा कर सकें।


0 comments:

Post a Comment