Sunday, December 13, 2020

एक ऐसा निकाह जिसमें दुल्हन यसरा ने मेहर में मांगी ‘पाबंदी-ए-न’माज-ए-फज्र’


पाकिस्तान के मशहूर सीरियल मन के मोती की अदाकारा यसरा रिज़वी ने 30 दिसंबर 2016 को ड्रामा प्रोडूसर अब्दुल हादी के साथ शादी की. यह शादी पाकिस्तान सहित दुनिया भर में काफी चर्चा का विषय बन गई.









दरअसल 34 वर्षीय यसरा ने बेहद ही सादगी के साथ अपने से 10 साल छोटे हादी से निकाह किया. इनकी शादी की दूसरी सबसे ख़ास बात ये रही कि यसरा ने मेहर में अपने शोहर से कोई धन-दोलत न मांगकर पाबंदी के साथ फज्र की न’माज सहित पंच वक्ता न’माज मांगी. यसरा की इस ख्वाहिश को उनके शौहर हादी ने बड़ी ही ख़ुशी के साथ पूरा किया. हादी रोजाना अब वक्त की पाबंदी के साथ न’माज भी अदा कर रहे हैं.





Yasra Rizvi Blasts Trollers for Debating on Age-Difference With Husband, Abdul Hadi! | Brandsynario




यसरा ने इस बारें में बताया कि उनके पति हादी के पास हाल-फिलहाल कोई नोकरी नहीं हैं. अभी वह MBBS थीसिस ख़त्म कर रहे हैं. ऐसे में अपने शौहर से मेहर के तौर पर उन्हें कोई रकम मांगना गंवारा नहीं लगा. इसलिए उन्होंने मेहर में ‘पाबंदी-ए-न’माज-ए-फज्र’ की ख्वाहिश जाहिर की. जिसे उन्होंने ख़ुशी-ख़ुशी पूरा किया.





एक निकाह ऐसा भी जिसमें दुल्हन ने रखी दुल्हे से पांच वक्त नमाज अदा करने की शर्त - Hindi Siasat Archive




उन्होने आगे कहा, आज हमारा कोई भी काम ऐसा नहीं हैं जो हमारे म’जहब की नुमाइंदगी करता हो. सिर्फ न’माज ही है जो हमे दुनिया के दुसरे लोगो से अलग करती हैं. यह अ’ल्लाह की और से हमे इनाम हैं. जो सिर्फ मु’सलमानों को अदा की गई हैं. और हम इसे आलस और दुसरे गैर कामों में गवा देते हैं.





Pakistani Actress Yasra Rizvi's Marriage Sparks Debate On Social Media - VeryFilmi




उन्होंने कहा, न’माज से बेहतर कोई चीज मेरी हिफाजत नहीं कर सकती. मेहर भी हिफाजत के लिए ही होती हैं. ऐसे में मेने अपने शौहर से मेहर में ”पाबंदी-ए-न’माज-ए-फज्र” की ख्वाहिश की.
(साभार)


0 comments:

Post a Comment