Friday, December 4, 2020

हरियाणा में बीजेपी ख'-तरे में, किसान वि'-रोधी बिल के कार'ण कई वि'-धायको ने…


हरिया;णा में चल रहे कि;सान आं;दोलन के बीच रा'- ज्य की खट्टर सरकार पर अब सं'- कट के बादल छा गए हैं। माना जा रहा है कि यह कां'- ग्रेस के लिए हरियाणा में एक और बढ़ि'-या मौका हो सकता है। अगर कां'-ग्रेस जजपा को अपने की में में खींच लेती है। तो उसे एक दो नि'-र्दलीय विधायकों का भी सम'र्थन मिल सकता है।









जिससे रा'-ज्य में एक बार फिर से कां'-ग्रेस की सरकार बन सकती है। इस संदर्भ में हरि'-याणा कां'- ग्रेस की प्रदेश अध्यक्ष कुमारी शैल'जा ने मौका सं'-भालते हुए सोशल मीडिया के जरिए यह ट्वी'ट किया है कि अप'नी अं'-तरात्मा की आवाज को सुनते हुए JJP, नि'-र्दलीय व BJP के किसान हितैषी विधा'-यकों को इस ‘कि'-सान-मजदूर विरो'-धी’ हरियाणा सरकार से अपना समर्थन वा'-पिस लेते हुए किसानों के ह'कों की इस नि'-र्णायक ल'- ड़ाई में धरातल पर उतरकर उनका साथ देना चाहिए।





कि'-सानों को न्याय दिलाना ही हमारा परम कर्तव्य है। मीडिया रि'-पोर्ट्स की मानी जाए तो कां'-ग्रेस नेता कुमारी शैलजा को पता है कि जैसे ही कुछ नि'-र्दलीय, कुछ जजपा और कुछ भा'-जपा के वि'-धायक हरि'-याणा स'-रकार से स'-मर्थन वापस लेंगे, वैसे ही सरकार गिर जाएगी और उसके बाद इन वि'-धायकों को अप'-ने खेमे में मि'-लाकर कां'-ग्रेस हरियाणा में सरकार बना लेगी।









कु'-मारी शैलजा ने अपनी चाल चल दी है, अब देखना है कि स'-रकार में शामिल ये विधायक उनकी बात मानते हैं या नहीं। आपको बता दें कि हरि'-याणा में इस वक्त किसान आंदोलन जोरों शोरों से चल रहा है। जिन के स'-मर्थन में राज्य की 40 खाप पंचायतें भी आ गई है।





कल निर्दलीय विधायक सो'-मवीर सांगवान ने खट्टर सरकार को अपना इ'-स्तीफा सुनते हुए सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया है। खाप पंचायतों का कहना है कि वह राज्य के विधायकों से यह अपील कर रहे हैं कि वह खट्टर सर'-कार को दिया गया समर्थन वापस ले और राज्य में स'-रकार गि'रा दे।


0 comments:

Post a Comment